Digital Signature क्या है | Digital Signature Kya Hai

Digital Signature क्या है ? 

नमस्कार दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं डिजिटल सिग्नेचर के बारे में संपूर्ण जानकारी ? तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें इस पोस्ट के अंदर हमने डिजिटल सर्टिफिकेट क्या है एवं इसके फायदे क्या क्या हैं तो इन सारी बातों को आज हम आपको इस आर्टिकल के अंदर बताने वाले हैं। यदि वास्तव में आप इसके बारे में सही जानकारी जानना चाहते हैं तो एक बार इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें

दोस्तों यह बात हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है कि अब जमाना डिजिटल हो गया है और काफी तीव्र गति से बदलता जा रहा है। यदि हम यह कहें कि वर्तमान युग इंटरनेट का युग है तो भी बिल्कुल गलत नहीं होगा । आज के इस डिजिटल जमाने में यदि आप डिजिटल सिग्नेचर के बारे में नहीं जानते हैं तो यूं समझ लीजिए कि यह आप को होना चाहिए क्योंकि आपको ऐसे डिजिटल जमाने में डिजिटल सिग्नेचर के बारे में संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए क्योंकि यह हमारे लगभग हर समय काम आते ही रहते हैं तो इसलिए आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी जानना बहुत जरूरी है। दोस्तों जैसा कि हम जानते हैं कि इनका इस्तेमाल सर्वाधिक डाक्यूमेंट्स के लिए किया जाता है तो आज के इस युग में इसका बहुत प्रचलन हो गया है और वास्तव में इसके इस्तेमाल से कई सारे फायदे भी हो रहे हैं तो आज हम इसके बारे में आपको संपूर्ण जानकारी देंगे। तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

DIGITAL Signature क्या है जानें आसान शब्दों में –

यदि आप सोच रहे हैं कि डिजिटल सिग्नेचर कोई बहुत बड़ी प्रक्रिया होती होगी तो दोस्तों ऐसा नहीं है। यह एक प्रकार से गणितीय तकनीक है जिससे महत्वपूर्ण डिजिटल कागजातों एवं संदेश या फिर सॉफ्टवेयर की प्रमाणिकता की पुष्टि की जाती है।

आपको बता दें कि जब आपको कोई भी अप्लाई करना होता है तब तुम्हें अपने हस्ताक्षर करके दस्तावेज की संपूर्ण जानकारी की पुष्टि करनी होती है और आवेदन को जमा करना होता है। उसी प्रकार यदि बात की जाए electronic document, certificate, message इत्यादि ऑनलाइन जमा करना होता है में अपनी पहचान के लिए वेरीफाई करना होता है या फिर पुष्टि करनी पड़ती है तब तुम्हें इस प्रकार के डिजिटल सिग्नेचर का इस्तेमाल करने की आवश्यकता होती है या फिर यूं कहूं कि तब आपको इसका इस्तेमाल करना पड़ता है।

आपको बता दूं कि यह “Secure Digital Key” पर आधारित होती है इसमें तुम्हारी संपूर्ण जानकारी जैसे कि तुम्हारा पूरा नाम, एवं तुम्हारा एड्रेस और तुम्हारा आधार कार्ड, तुम्हारी जन्मतिथि एवं पैन कार्ड हस्ताक्षर, परमानेंटली पता आदि के बारे में जानकारी होती है। जैसा कि मैंने आपको थोड़ी देर पहले ही बताया है कि यह एक “secure digital key” होती है जो कि संपूर्ण प्रकार से बहुत सिक्योर होती है जिसके डाटा को कोई भी चोरी अथवा हैक नहीं कर सकता है। तुम्हें यह भी बता दूं कि यदि तुम बिजनेस करते हैं तब आपको “सिक्योर डिजिटल की” में डिजिटल सिग्नेचर करने हेतु तुम्हारे बिजनेस के बारे में संपूर्ण जानकारी होना बेहद जरूरी है।

यदि तुम सोचते हो कि सिर्फ और सिर्फ डिजिटल सिग्नेचर एक बार बनवा लेने के बाद इसकी आवश्यकता हमेशा के लिए खत्म हो जाती होगी अर्थात द्वारा नहीं बनवाना पड़ता होगा तो दोस्तों आपको बता दूं कि इसकी वैलिडिटी होती है अर्थात निश्चित समय होता है और समय के साथ यह एक्सपायर हो जाता है। फिर चाहे आप इसका इस्तेमाल करें या फिर नहीं करें।

आपको यह 2 साल या फिर 3 वर्ष के बाद ‘renewable’ कराने की आवश्यकता पड़ जाती है। जिसकी वजह से आप इसे पुनः अपने हर इस्तेमाल में ले सकते हैं। दोस्तों आपको बता दूं कि डिजिटल सिग्नेचर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल सॉफ्टवेयर डिस्ट्रीब्यूशन, ई-कॉमर्स, ऑनलाइन बैंकिंग, ई फाइलिंग, सर्विस टैक्स रिटर्न, वित्तीय लेनदेन एवं अन्य महत्वपूर्ण कामों के लिए इसका इस्तेमाल सर्वाधिक हो रहा है।

Digital Signature के प्रकार –

आपको डिजिटल सिग्नेचर के प्रकार बताने से पहले मैं यह बताना चाहूंगा DSC की फुल फॉर्म के बारे में। दोस्त की फुल फॉर्म होती है Digital Signature Certificate यह तीन प्रकार के होते हैं।

Class 1 DSC

दोस्तों यह डिजिटल सिगनेचर सर्टिफिकेट उपयोगकर्ता के लिए जारी किया जा सकता है इसमें उपयोगकर्ता की इमेज एवं उसका नाम एवं आईडेंटिटी वेरीफिकेशन की पुष्टि होती है। इस क्लास का सिग्नेचर एक बेसिक लेवल की सिक्योरिटी सुरक्षा प्रदान करता है। तो इनका इस्तेमाल कुछ इस प्रकार की स्थिति में किया जाता है जिससे आप के डाटा को खतरा बहुत कम हो।

Class 2 DSC

यदि इसकी बात की जाए तो इसका सर्वाधिक इस्तेमाल प्राइवेट संस्थाओं में काम करने वाले लोगों के लिए या फिर बिजनेसमैन के लिए सर्वाधिक किया जाता है। इसके जरिए से ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं एवं डिजिटल सिगनेचर सर्टिफिकेट के माध्यम से ऑनलाइन गवर्नमेंट काम भी कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल इनकम टैक्स रिटर्न और सामानों सर्विस टैक्स रिटर्न के लिए भी होता है।
Class 3 DCS

यदि इसके बारे में बात की जाए तो यह डिजिटल हस्ताक्षर का सबसे बड़ा लेवल होता है क्योंकि यह पूर्ण रूप से सबसे सिक्योर रहता है। इसके लिए प्रत्यक्ष सर्टिफाइड अथॉरिटी से मिलकर तुम्हें डाक्यूमेंट्स की पुष्टि करना पड़ती है। दोस्तों जो लोग इस डिजिटल हस्ताक्षर के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आपको बता दें कि आपको अपनी पहचान साबित करने के लिए प्रमाणित प्राधिकारी अर्थात रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी के सामने उपलब्ध होना चाहिए होता है।

E commerce क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

Paytm Se Business Loan Kaise Le. 2022

Adidas किस देश की कंपनी है और इसके मालिक कौन हैं ?

Facebook से Third Party Apps  Remove कैसे करें?

Digital Signature के फायदे

दोस्तों यदि डिजिटल हस्ताक्षर के फायदों के बारे में बात करें तो इसके अनेकों फायदे होते हैं और अलग-अलग क्षेत्र पर इसका खूब इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि डिजिटल हस्ताक्षर में कम समय में वेरिफिकेशन हो जाता है। वैसे तो दोस्तों इस के अनेकों फायदे हैं परंतु मैं आपको कुछ फायदे यह भी बताने वाला हूं।

Income tax return की E-fiiling के लिए डिजिटल हस्ताक्षर की खूब आवश्यकता पड़ती है।

एग्रीमेंट एवं कॉन्ट्रैक्ट के लिए डिजिटल हस्ताक्षर की खूब आवश्यकता पड़ती है।

किसी भी ऑनलाइन फॉर्म भरने में डिजिटल सिग्नेचर अर्थात डिजिटल हस्ताक्षर की बेहद जरूरत पड़ती है।

कंपनी की इंफॉर्मेशन के लिए वर्तमान समय में E-fiiling की आवश्यकता पड़ती है।

गवर्नमेंट टेंडर के लिए ऑनलाइन आवेदन करने हेतु इसकी आवश्यकता पड़ती है।

जॉब के लिए ऑनलाइन रिज्यूम में अप्लाई करने पर आपको वेरिफिकेशन डिजिटल हस्ताक्षर के माध्यम से करना होता है।

यह चार्टेड अकाउंटेंट द्वारा ई-अटेंशन जारी करने में मददगार होता है।

अभी मैंने जो आपको इसकी आवश्यकता बताई हैं वहीं इसके लाभ हैं क्योंकि इसके इस्तेमाल से आप इन सभी कार्यों को कर सकते हैं और इनका अच्छी तरह से लाभ उठा सकते हैं ‌।

दोस्तों यह बात मैं मानता हूं कि इस पोस्ट के अंदर मैंने इसकी संपूर्ण जानकारी नहीं दी है, जो महत्वपूर्ण जानकारी थी सिर्फ वही दी है। यदि फिर भी आप चाहते हैं कि हम आपको इसके बारे में अलग से और अधिक जानकारी दें तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं हम आपको फिर इसके बारे में संपूर्ण जानकारी अवश्य दें देंगे। यदि इतनी जानकारी आपकी अच्छी तरह से समझ में आ चुकी हो तो आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Comment